आसाराम अलग-अलग महिलाओं संग आपत्तिजनक स्थित में

आसाराम अलग-अलग महिलाओं संग आपत्तिजनक स्थित में

रात में खूबसूरत लड़कियों से प्राइवेट रूम में मिलते थे आसाराम
लड़की पसंद आते ही कोड वर्ड में बोलते थे आसाराम 
toc news internet channel 

नाबालिग लड़की से यौन शोषण के आरोप में आसाराम बापू सलाखों के पीछे दिन गुजार रहे हैं। इसी बीच आसाराम बापू के वफादारों पर भी शिकंजा कसता जा रहा है। जैसे-जैसे छानबीन आगे बढ़ रही है आसाराम से जुड़े कई राज सामने आ रहे हैं। आसाराम के खास सेवक शिवा से पूछताछ के बाद पुलिस ने पहले ये खुलासा किया था कि शिवा आसाराम के उस कुटिया की पहरेदारी किया करता था जिसमें आसाराम रंगरलियां मनाया करते थे। उसके बाद शिवा के माध्‍यम से ही पुलिस ने ये भी खुलासा किया कि आसाराम रात आठ बजे के बाद खूबसूरत लड़कियों से प्राइवेट रूम में मिलते थे। खुलासा तो ये भी हुआ है कि आसाराम इन कमरों में महिलाओं संग अश्‍लील आसन करते थे।  इसी क्रम में पुलिस ने अब नया खुलासा किया है कि शिवा के पास आसाराम के प्राइवेट रूम (एकांतवास) की कुछ सीडियां और वीडियो क्‍लिपिंग हैं। जानकारी ये भी है कि उस सीडी में आसाराम अलग-अलग महिलाओं संग आपत्तिजनक स्थित में हैं। पुलिस ने बताया कि ये सीडी उन महिलाओं को ब्‍लैकमेल करने के लिये बनाई जाती थी।

पुलिस ने कोर्ट से गुहार लगाई है कि सीडी की बरामदगी के लिये अहमदाबाद जाना पड़ेगा इसलिये शिवा का रिमांड पांच दिनों के लिये बढ़ा दी जाये। एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक शिवा ने पूछताछ में बताया कि आसाराम महिलाओं से मिलने के लिये खास नाम का इस्‍तेमाल करते थे जैसे ''ध्‍यान की कुटिया'' इत्‍यादि। शिवा ने जो सबसे बड़ा खुलासा किया है वो ये है कि वह घटना के दिन शिल्‍पी के संपर्क में था। फोन रिकॉर्ड के मुताबिक घटना वाले दिन शिल्पी आसाराम और पीड़ित परिवार से लगातार संपर्क में थी। मालूम हो कि शिल्‍पी आसाराम के जोधपुर गुरुकुल की वॉर्डन थी और उसपर आरोप है कि वो आसाराम को लड़कियां सप्‍लाई किया करती थी। हालांकि काफी लंबे समय तक शिल्‍पी और आसाराम के संबंध रहे हैं जिसके बदले में आसाराम ने शिल्‍पी को दिल्‍ली और अहमदाबाद में एक-एक फ्लैट बतौर गिफ्ट दिया था। फिलहाल शिल्‍पी फरार है और पुलिस उसकी तलाश कर रही है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस पूरी साजिश में आसाराम के अलावा तीन अहम किरदार और हैं।

आसाराम का विश्वासपात्र उनका रसोइया प्रकाश, दूसरा आसाराम का सेवादार शिवा और तीसरा छिंदवाड़ा आश्रम के हास्टल की वॉर्डन शिल्पी।
Posted by jasika lear, Published at 22.00

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >