मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में नहीं डालेंगे वोट

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में नहीं डालेंगे वोट

सगौनी में हुई महापंचायत लिया निर्णय
toc news internet channel


नरसिंहपुर। नरसिंहपुर विकासखंड के 17 ग्रामों वाशिंदों ने एक बार फिर रोड नही तो वोट नहीका नारा देते हुए सगौनी में महापंचायत का आयोजन कर चुनाव बहिष्कार के अपने संकल्प को दोहराया। ऐन चुनाव के वक्त सैंकड़ों की तादाद में एकत्र हुए ग्रामीणों द्वारा सड़कों की जर्जर हालत से ग्रामों के अवरूद्ध विकास के दर्द की कराह ने भाजपा व कांग्रेस नेताओं के उन दावों की पोल खोल दी जिसमें कहा गया था कि सड़कों के निर्माण का कार्य आरंभ हो गया है। आजादी के बाद से ही सड़क विहीन ग्रामों का दंश भेग रहे तिंदनी, गरकटा, नयाखेड़ा, इमलिया, सगौनी खुर्द, सगौनी मोटी, ढूढीं पिंडरई, गरारू, पिपरहा, महगंवा, ग्वारी, धुबघट, सिमरिया, बम्हौरी के वाशिंदों ने जागरूकता का परिचय देते हुए लंबे समय से राजैनिक दलों व व्यवस्था के खिलाफ मोर्चा खोलकर रखा है, जिससे इस चुनावी समर में राजनैतिज्ञों के माथे पर चिंता की लकीरें खिंच गयी हैं। महापंचायत में ग्रामीणों ने बताया कि इन ग्रामों के पहुंच मार्गों के निर्माण के संबंध में मुख्यमंत्री व प्रभारी मंत्री द्वारा की गयी घोषणाएं पूरी तरह थोथी निकलीं। ग्रामीणों ने अपना दर्द व्यक्त करते हुए कहा कि सड़कें विकास की रग होती हैं पर इस दिशा में कोई संचार न होने के कारण जिला मुख्यालय से लगे होने के बाद भी गांवों का विकास नही हो सका, जिससे ग्राम हर क्षेत्र में पिछड़ते हुए गर्त में जा रहे हैं, इन्होंने बताया कि वर्षों से हमारी उम्मीदें आश्वासनों पर टिकी हुई हैं किंतु नेताओं के आश्वासन सदैव झूठे निकले। इन्होंने कहा कि जब तक इन 17 ग्रामों को सड़कों की सौगात नही दी जाती तब तक हम मतदान नही करेंगे। महापंचायत में कंछेदी पटैल, निहाल पटैल, पप्पू राजपूत, नन्हेलाल पटैल, बाबूलाल पटैल, डॉ. प्रहलाद पटैल, राजा भैया, संतोष श्रीवास्तव, केहर पटैल, युवराज राजपूत सहित सैंकड़ों ग्रामीण मौजूद रहे।

सीएम के लिए सुधारी सड़कें

क्या एनएचएआई राज्य सरकार के अधीन आ गया है! ऐसा इसलिए लग रहा है क्योकि मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा के दृष्टिगत एनएचएआई द्वारा करेली बस्ती से नरसिंहपुर फोर लाइन तक के एनएच को दुरूस्त किया गया। करेली शहर के बीच से नेशनल हाइवे निकलता है जिसे हम नारकीय हाइवे कहे तो अतिश्योक्ति नहीं होगी पूरी सड़क तो बदहाल है। इन बडे बडे गड्ढों से कई वाहनों के नीचे लगी कमानी टूट चुकी है जिससे कि यह बीच रास्ते में ही खराब हो गये है। जिससे कि आगे पीछे से निकलने वाले वाहन चालकों को भी परेशानी होती है। साथ ही इससे लंबा जाम लग जाता है और दुपहिया वाहन भी नही निकल पातें।

Posted by jasika lear, Published at 05.09

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >