क्या सलवार-कमीज़ पहनने वाली औरतों का बलात्कार नहीं होता: हरसिमरत बादल

क्या सलवार-कमीज़ पहनने वाली औरतों का बलात्कार नहीं होता: हरसिमरत बादल

toc news internet channel

नई दिल्ली: मुम्बई में एक फोटो पत्रकार के साथ हुए सामूहिक बलात्कार के बाद समाजवादी पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल की तरफ से औरतों के पहनावे पर की गई टिप्पणी महिलों सांसदों को रास नहीं आई है। बठिंडा से शिरोमणी अकाली दल बादल की लोकसभा मैंबर हरसिमरत बादल ने नरेश अग्रवाल की इस टिप्पणी पर कड़ा एतराज जताया है।

हरमिसरत ने कहा है कि देश में महिलाओं के साथ हुई ज्यादतियों के 1 लाख से ऊपर मामले लम्बित हैं। ऐसे में सवाल यह उठता है कि इन सभी औरतों के साथ अत्याचार इनके पहनावों के कारण तो हुआ नहीं, इन 1 लाख मामलों में बच्चियां भी शामिल हैं, उनके पहनावे के बारे में ऐसे नेता क्या कहेंगे?

हरसिमरत ने कहा कि औरतों के साथ ज्यादतियों के लिए उनके पहनावे को जिम्मेदार बताने की मानसिकता गलत है, और ऐसे मामलों में औरतों के पहनावे पर उंगली उठाने की बजाय दोषियों के खि़लाफ़ कार्यवाही करने की बात की जानी चाहिए। मुम्बई में महिला पत्रकार के साथ हुए बलात्कार के बाद समाजवादी पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल ने ग़ैर-जिम्मेदाराना बयान देते हुए ऐसीं वारदातों को औरतों के पहनावे को जिम्मेदार ठहराते हुए सलाह दी थी कि औरतें को भड़काऊ कपड़े नहीं डालने चाहिए, क्योंकि औरतों के भड़काऊ कपड़े ही ऐसीं वारदातों के लिए जिम्मेदार हैं।
Posted by jasika lear, Published at 06.12

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >