विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रही है बीजेपी: आप

विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रही है बीजेपी: आप

toc news internet channel
संजय सिंह 
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) से निकाले गए लक्ष्मी नगर के विधायक विनोद कुमार बिन्नी और सरकार को समर्थन कर रहे दो अन्य विधायकों के 48 घंटे के अल्टिमेटम के एक दिन बाद 'आप' ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी पर बड़ा हमला बोला है। पार्टी ने आरोप लगाया कि देश की सबसे लोकप्रिय राज्य सरकार को गिराने के खेल में बीजेपी के नेता अरुण जेटली, नरेंद्र मोदी और हर्षवर्धन शामिल हैं। पार्टी ने आरोप लगाया कि कुछ मीडिया हाउस भी इस षड्यंत्र में शामिल हैं। 'आप' ने कहा है कि वह कल से 'पोल खोल' अभियान चलाएगी। दूसरी तरफ, अरुण जेटली ने अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि झूठ बोलना 'आप' का मूल अधिकार है।

दिल्ली में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में 'आप' के नेता संजय सिंह ने कहा कि केजरीवाल सरकार को गिराने के लिए बीजेपी साजिश रच रही है। उन्होंने कहा, 'साजिशों के पीछे अदानी और अंबानी के लोग शामिल हैं। जिस दिन से मुख्यमंत्री ने बिजली कंपनियों का लाइसेंस रद्द करने की चेतावनी दी है उसी दिन से दिल्ली सरकार को गिराने की गतिविधियों में तेजी आई है। इस साजिश में अरुण जेटली, डॉ. हर्षवर्धन और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी का अहम रोल है। मीडिया के साथ मिलकर कांग्रेस, बीजेपी दुष्प्रचार में जुटी है। ये पैसे के बल पर 'आप' के विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं।'

संजय सिंह ने कहा कि बिजली कंपनियों के ऑडिट के बाद परोक्ष रूप से सरकार को ब्लैकमेल करने की कोशिश की जा रही है, जिसमे मीडिया का एक हिस्सा भी सहयोग कर रहा है। उन्होंने मीडिया पर निशाना साधते हुए कहा, 'ब्लैकआउट की अफवाह फैलाना किस तरह की पत्रकारिता है? बिजली खरीदने के पैसे नहीं हैं, यह कह कर बिजली कंपनिया नाटक कर रही हैं। हर महीने दिल्ली की जनता जो बिल जमा कर रही है वे पैसे कहा जा रहे हैं?'

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद 'आप' के कस्तूरबा नगर से विधायक मदनलाल ने कहा कि जेटली और मोदी के करीबियों के द्वारा मुझे लगातार पैसे और पद के लालच दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा, 'सीएम बनाने का लालच देकर मुझे 'आप' से 9 विधायकों को तोड़ने के लिए कहा गया। 7 दिसंबर को आईएसडी कॉल आई थी। उस शख्स ने मुझसे जेटली से बात करवाने का दावा किया और सीएम पद देने का प्रलोभन दिया गया। 'आप' से अलग होने वाले हर विधायक को 20-20 करोड़ रुपये देने की बात कही गई। मैंने 'शट अप' कह फोन बंद कर दिया।' मदनलाल ने यह भी कहा कि गुजरात के एक शख्‍स ने भी उनसे इस बारे में संपर्क किया था।

मदनलाल ने मीडिया पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा, 'मैंने बिन्नी के साथ कोई बैठक नहीं की और न ही उनसे मिला। इसके बावजूद चैनलों में यह बात चल रही है कि मैं बिन्नी के साथ जा रहा हूं।' पत्रकारों ने जब इनसे पूछा कि आपके पास इन आरोपों को साबित करने के लिए सबूत कहां हैं, तो उन्‍होंने हाथ खड़े कर दिए और कहा, 'मेरे पास सबूत नहीं हैं।'

कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी शकील अहमद ने भी बीजेपी पर विधायकों के खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है। AAP में बगावत पर शकील अहमद ने ट्वीट कर कहा, 'क्या यह सच है कि बीजेपी का एक अरबपति सहयोगी आम आदमी पार्टी और उसके सहयोगी विधायकों को पैसा देने की पेशकश कर रहा है।'
Posted by jasika lear, Published at 01.30

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >