साहब यहां रीचार्ज वॉऊचर मिलता है क्या?

साहब यहां रीचार्ज वॉऊचर मिलता है क्या?

(अखिलेश दुबे)
toc news internet channel


सिवनी । महानगरों की तर्ज पर सिवनी में कोतवाली परिसर के मुख्य द्वार पर एक निजी सेवा प्रदाता मोबाईल कंपनी द्वारा प्रायोजित साईन बोर्ड लोगों के लिए कोतुहल का विषय बना हुआ है। सोशल नेटवर्किंग वेब साईट पर भी यह मुद्दा बहस का विषय बन चुका है।

सिवनी कोतवाली में मोबाईल की एक निजी सेवा प्रदाता कंपनी द्वारा एक साईन बोर्ड लगाया गया है। इस साईन बोर्ड का प्रस्ताव किसे दिया गया? किसने इसकी अनुमति दी? नगर पालिका से एनओसी मिली अथवा नहीं? ये सारी बातें अभी किसी को पता नहीं हैं, किन्तु इसके लगते ही चर्चाओं का न थमने वाला दौर आरंभ हो गया है।

कहा जा रहा है कि महज कुछ हजार खर्च कर फ्लेक्स वाले ग्लो साईन बोर्ड के जरिए निजी सेवा प्रदाता कंपनी द्वारा अपना विज्ञापन करवाया जा रहा है। इस विज्ञापन के एवज में वह नगर पालिका परिषद् या पुलिस विभाग को क्या दे रहा है यह बात भी किसी के संज्ञान में नहीं ही बताई जा रही है।
इस ग्लो साईन बोर्ड के अंदर ट्यूब लाईट लगी हुई हैं। कहा जा रहा है कि अपने विज्ञापन के लिए सेवा प्रदाता कंपनी द्वारा तबियत से इसमें ट्यूब लाईट लगाई गई हैं। इन ट्यूब लाईट के रात भर जलने से भाग मिल्खा भाग की तर्ज पर घूमने वाले बिजली के मीटर का भोगमान कौन भोगेगा यह बात भी कोई नहीं जानता है!
एक पुलिस कर्मी ने पहचान उजागर न करने की शर्त पर समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से कहा कि अब तो कोतवाली पुलिस की सरदर्दी और अधिक इसलिए बढ़ गई है क्योंकि निजी सेवा प्रदाता कंपनी ने अपनी कंपनी का नाम बहुत ही बड़े अक्षरों में तो 'कोतवाली थाना, सिवनी' बेहद बारीक अक्षरों में लिखवाया है।

उक्त पुलिस कर्मी का कहना था कि लोग कोतवाली को मोबाईल सेक्टर की उक्त सेवा प्रदाता कंपनी का कार्यालय ही समझने लगे हैं। उसने बताया कि गत दिवस तो दो तीन ग्रामीण मोबाईल उपभोक्ताओं ने यहां तक पूछताछ कर ली कि ''साहब, यहां उक्त कंपनी के रीचार्ज वॉऊचर मिलते हैं क्या?
(साई)
Posted by jasika lear, Published at 06.58

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >