मध्यप्रदेश में जेल तोड़कर फरार आतंकी, केंद्र ने मांगी रिपोर्ट

मध्यप्रदेश में जेल तोड़कर फरार आतंकी, केंद्र ने मांगी रिपोर्ट

toc news internet channal

मध्य प्रदेश के खंडवा में प्रतिबंधित संगठन सिमी के सात विचाराधीन कैदियों के आज तड़के जेल तोड़कर फरार होने की घटना पर केंद्र ने राज्य सरकार से रिपोर्ट भेजने को कहा। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस घटना को गंभीरता से लेते हुए गह मंत्रालय ने राज्य सरकार से जेल तोड़कर फरार होने से जुड़ी परिस्थितियों और इस घटना में शामिल कैदियों को पकड़ने की दिशा में उठाये जा रहे कदमों के बारे बताने को कहा। 
    
इस घटना में फरार होने वाले कैदियों में गणेश तलाई खण्डवा का अमजद, असलम, जाकिर हुसैन, करेली का एजाजउद्दीन, गणेश तलाई मेहबूब उर्फ गुडडू तथा जुहू अंधेरी वेस्ट मुंबई का अबु फैजल और खंडवा का ही आबिद मिर्जा शामिल हैं। इनमें से फरार छह कैदी सिमी के कट्टर आतंकी बताये जाते हैं।

पुलिस अधीक्षक (एसपी) मनोज शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि फरार हुए सिमी के छह आतंकवादियों की तलाश के लिए पुलिस की 15 टीमें लगाई गई हैं, साथ ही प्रदेश के सभी जिलों की पुलिस के लिए अलर्ट जारी किया गया है। उन्होंने बताया कि सिमी के जेल से फरार आतंकवादियों के नाम अमजद निवासी गणेश तलाई खंडवा, असलम निवासी गणेश तलाई, जाकिर हुसैन निवासी गणेश तलाई, एजाजउद्दीन निवासी नरसिंह वॉर्ड करेली, महबूब उर्फ गुड्डू निवासी गणेश तलाई तथा अबू फैजल निवासी अल्फा मेडिकल स्टोर्स जुहू अंधेरी वेस्ट मुंबई हैं। पुलिस ने जेल से फरार हुए आबिद मिर्जा को सर्वोदय कॉलोनी से गिरफ्तार कर लिया है।

शर्मा ने बताया कि ये सभी विचाराधीन कैदी जेल के टॉइलेट की दीवार तोड़कर फरार हुए हैं, जो जेल परिसर में आखिर में बना हुआ था। फरार होते समय इन लोगों ने एक पुलिसकर्मी लोकेश हिर्वे व होमगार्ड सुरेश तिवारी को चाकू मारकर घायल कर दिया और उनकी एक भरी राइफल लेकर भाग गए। रास्ते में इनकी चीता मोबाइल मोटरसाइकल सवार दो जवानों से भी मुठभेड़ हुई और उनसे भी इन्होंने वायरलैस सेट छीन लिया।

उन्होंने बताया कि समूचे घटनाक्रम की जानकारी सुबह सवा पांच बजे कोतवाली पुलिस को मिली, जिसके बाद नाकेबंदी कर आरोपियों की तलाश शुरू की गई। तलाशी दल को सर्वोदय कॉलोनी में आबिद मिर्जा नजर आया, जिसे धर दबोचा गया। एसपी ने कहा कि आबिद से पूछताछ के आधार पर पुलिस टीमें खंडवा के अलावा आसपास के क्षेत्रों में भेजी गई हैं। इसके साथ ही प्रदेश के सभी जिलों के पुलिस थानों को अलर्ट जारी किया गया है। सभी फरार आरोपियों पर हत्या सहित अन्य गंभीर आपराधिक धाराओं में प्रकरण दर्ज हैं। 28 नवंबर 2009 के आतंकी हमले में इन्होंने एटीएस जवान सीताराम यादव एवं दो अन्य लोगों को गोली से उड़ा दिया था।


दूसरी ओर सेंधवा (बड़वानी) में जेल मंत्री अंतर सिंह आर्य ने सिमी के छह विचाराधीन कैदियों के खंडवा जिला जेल तोड़कर फरार होने के मामले को गंभीरता से लेते हुए उच्च स्तरीय जांच कराने की बात कही है। उन्होंने पुलिस महानिदेशक (जेल) और प्रमुख सचिव जेल को खंडवा पहुंचने के भी निर्देश देते हुए कहा है कि दोषी जेल अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर सख्त कार्रवाई की जाए।
Posted by jasika lear, Published at 07.10

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >