शिवराज सरकार निर्दोष है तो मामले की जांच सीबीआई से कराए: जन न्याय दल

शिवराज सरकार निर्दोष है तो मामले की जांच सीबीआई से कराए: जन न्याय दल

            भ्रष्टाचार के खिलाफ राष्ट्रीय जनांदोलन चलाकर आम नागरिकों को प्रशिक्षण   
toc news internet channel

भोपाल । जन न्याय दल का कहना है कि व्यावसायिक परीक्षा मंडल और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में हुए कथित घोटालों में यदि शिवराज सरकार निर्दोष है तो उसे इस मामले की जांच सीबीआई से करानी चाहिए। जन न्याय दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष बृजबिहारी चौरसिया ने सागर में पत्रकारों से चर्चा में कहा कि देश के संसाधनों के विकास की जवाबदारी सरकार की है और राष्ट्रीय हित में जरूरी है कि सरकारें कलंक मुक्त और पारदर्शी हों।            

श्री चौरसिया ने भ्रष्टाचार के विरुद्ध देश भर में चलाए जा रहे राष्ट्रीय जनांदोलन को लेकर कहा कि राज्यसरकार ने बेरोजगारों को सरकारी नौकरियों में अवसर देकर सराहनीय कार्य किया है लेकिन इन नौकरियों को बेचकर प्रदेश के प्रतिभाशाली युवाओं के अवसर छीनने का महापाप कतई माफ करने लायक नहीं है। उन्होंने कहा कि एसटीएफ राज्य सरकार की ही एक जांच एजेंसी है इसलिए इतने बड़े घोटाले की जांच सीबीआई से करवाकर सरकार जनता का विश्वास दुबारा हासिल कर सकती है।          

उन्होंने कहा कि जन न्याय दल अपने घोषित प्रस्ताव के अनुसार राष्ट्र हित में करचोरी और शासकीय धन का अपव्यय रोकने का अभियान चला रहा है। दल अपने इस राष्ट्रीय जनांदोलन के तहत जागरूक जनता को प्रशिक्षित कर रहा है और ये प्रयास कर रहा है कि देश के आम नागरिक सरकारों को विधि सम्मत सहयोग दे सकें। उन्होंने कहा कि हमारे संविधान में भ्रष्टाचार को लोकतांत्रिक तरीके से समाप्त करने की शक्तियां आम जनता को प्रदान की गईं हैं। जनता को जागरूक करके इस लक्ष्य को पाया जा सकता है।          

जन न्याय दल के अध्यक्ष ने कहा कि दलगत राजनीति से ऊपर उठकर देश के आम नागरिक हमारे इस राष्ट्रीय जनांदोलन से जुड़ सकते हैं। उन्होंने बताया कि इस जनांदोलन को मजबूत बनाने के लिए हमने देश के माननीय प्रधानमंत्री महोदय और प्रदेश के मुख्यमंत्री महोदय से विधि सम्मत सहयोग मांगा है।          

श्री चौरसिया ने कहा कि सरकारों की नीतियों और संरक्षण के कारण ही देश में काला धन बन रहा है। देश और विदेश के बैंकों में गोपनीय ढंग से जमा कराए गए इस काले धन के लिए नेताओं, नौकरशाहों, पूंजीपतियों और कार्पोरेट घरानों का गठजोड़ जिम्मेदार है। उन्हें न्यायपालिका के बाबू स्तर के भ्रष्टाचार का भी सहारा मिल रहा है। काले धन को नियंत्रित करने वाली आयकर विभाग जैसी संवैधानिक संस्थाएं भ्रष्ट और निकम्मी साबित हो रहीं हैं इसलिए काले धन के खिलाफ अब जनता को ही आगे आना होगा।            

उन्होंने बताया कि जन न्याय दल अपने राष्ट्रीय जनांदोलन में भ्रष्टाचार मुक्त भारत के लिए लोगों से संकल्प पत्र भरवा रहा है। इन जागरूक नागरिकों को समय समय पर सम्मानित किया जाएगा। गांव गांव में पंचायत और वार्ड स्तर पर चलाए जाने वाले जन जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से जनता को विधि सम्मत लड़ाई लडऩे का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। ये प्रशिक्षित नागरिक केन्द्र और राज्यों की योजनाओं का भौतिक सत्यापन करेंगे। शासकीय खरीददारी और निर्माण कार्यों में घोटालों , शासकीय सेवकों की आय से अधिक संपत्तियों की खोजबीन, जैसे विषयों पर नागरिकों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

जन संचार माध्यमों के सहयोग से चलाई जाने वाली इस मुहिम से जहां सरकार पर जांच के नाम पर आने वाला बोझ घटेगा वहीं देश के करोड़ों नागरिक इस सफाई अभियान को सफलता से चलाकर हिंदुस्तान को मजबूत मुल्क बना देंगे। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ चलाए जा रहे राष्ट्रीय जनांदोलन का कार्य एक समिति को सौंपा गया है जिसमें राष्ट्रीय , प्रदेश और जिला स्तर पर संयोजकों और संचालकों की नियुक्तियां की जा रहीं हैं। शेष संगठन दल की समितियों के अनुरूप ही होगा।  भवदीय   आलोक सिंघई प्रदेश प्रवक्ता, जन न्याय दल 9425376322
Posted by jasika lear, Published at 01.45

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >