नाबालिग बेटी से रेप, रेपिस्ट बाप को लड़की का पति बना दिया!

नाबालिग बेटी से रेप, रेपिस्ट बाप को लड़की का पति बना दिया!




7 महीने की प्रेगनेंट हो चुकी है बेटी
toc news internet channel 

मेरठ। पहले बाप ने अपनी नाबालिग बेटी से रेप किया, फिर जब मामला पंचायत तक पहुंचा तो पंचों ने रेपिस्ट बाप को लड़की का पति बना दिया। पंचों ने न केवल बाप और बेटी को पति-पत्नी की तरह साथ रहने का फरमान सुनाया, बल्कि दोनों को मुहल्ला छोड़कर जाने का भी आदेश दे दिया। मां की मौत के बाद लड़की अपने पिता के साथ रह रही थी, जबकि उसके भाई-बहन ननिहाल में रह रहे थे। लड़की के प्रेगनेंट होने पर मामला उजागर हुआ और परिचितों ने इस मसले पर पंचायत में जाने का फैसला किया। दूसरी तरफ, पुलिस इस मामले में अनिभज्ञिता जाहिर कर रही है।

बेटी को किया प्रेगनेंट
मामला थाना लिसाड़ी गेट क्षेत्र से जुड़ा है। यहां रहने वाले एक व्यक्ति की पत्नी की 3 साल पहले मौत हो गई थी। पत्नी की मौत के बाद उसके 2 बच्चे खुशहाल नगर स्थित अपने नाना के घर रहने लगे थे। वहीं, बड़ी लड़की अपने पिता के साथ ही रहती थी। वह नाबालिग थी। मुहल्ले वालों का कहना है कि कुछ समय से इस लड़की ने अचानक घर से बाहर निकलना बंद कर दिया था। पिता के किसी काम से बाहर जाने पर जब वह थोड़ी देर के लिए घर से बाहर आई तो आसपास के लोगों ने देखा की वह प्रेगनेंट है।

लोगों ने की पिता की पिटाई
लोगों ने जब उससे गर्भ के बारे में पूछताछ की तो उसने बताया कि यह उसके पिता के बलात्कार का नतीजा है। उसने बताया की वह 7 महीने की प्रेगनेंट है और बीमार भी है। इस पर लोगों ने घर लौटने पर उसके पिता की जमकर पिटाई कर उसे मुहल्ले से भगा दिया। इस मामले की जानकारी जब खुशहाल नगर निवासी युवती के नाना-नानी को मिली तो उन्होंने अपने रिशतेदारों और पड़ोसियों से इस बात की चर्चा की। लोगों ने उन्हें इस मसले पर पंचायत बुलाने की सलाह दी।

पंचायत ने अवैध रिश्ते को दिया 'नाम'
शुक्रवार की शाम पंचायत में आरोपी व्यक्ति और पीड़ित किशोरी को भी बुलाया गया। पंचायत ने माना कि पिता और बेटी के सम्बन्ध अब पति-पत्नी की तरह हो गए हैं। इसलिए शरीयत कानून के मुताबिक शारीरिक संबंध बनाने वाला पिता अब पति माना जाएगा। पंचायत ने सभी पहलुओं पर विचार करने के बाद आरोपी व्यक्ति और उसकी पीड़ित बेटी से कहा कि अब उनके बीच नया रिश्ता बन गया है इसलिए वे मुहल्ले में नही रह सकते हैं। पंचायत ने दोनों को मुहल्ला छोड़कर चले जाने का फरमान सुनाया।

बताया जा रहा है कि पंचायत के फैसले के बाद आरोपी व्यक्ति पीड़िता को लेकर कानपुर में अपने किसी परिचित के पास चला गया। इस सम्बन्ध में थाना पुलिस ने ऐसी किसी भी घटना की जानकारी होने से इंकार किया। साथ ही कहा कि यदि पीड़ित युवती की कोई शिकायत उन्हें मिलेगी तो अवश्य कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
Posted by jasika lear, Published at 03.51

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >