शासकीय/ अशासकीय स्कूलों में गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस राष्ट्रीय पर्वों में अवैध वसूली लेने पर पाबन्दी लगाने बाबत आग्रह..

शासकीय/ अशासकीय स्कूलों में गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस राष्ट्रीय पर्वों में अवैध वसूली लेने पर पाबन्दी लगाने बाबत आग्रह..

toc news internet channel

श्रीमान शिवराज सिंह जी से शासकीय/ अशासकीय स्कूलों में गणतंत्र 

दिवस और स्वतंत्रता दिवस राष्ट्रीय पर्वों में अवैध वसूली लेने पर 


पाबन्दी लगाने बाबत आग्रह।


प्रति,
श्रीमान शिवराज सिंह जी
मुख्यमंत्री महोदय, 
मध्यप्रदेश शासन, भोपाल. (म.प्र.)

विषय :- शासकीय/ अशासकीय स्कूलों में गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस राष्ट्रीय पर्वों में अवैध वसूली/ दान लेने पर पाबन्दी लगाने बाबत आग्रह।

सादर नमस्कार

आपको एक बार पुन: सरकार बनाने एवं मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बनने पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं.....
आपको ज्ञात कराना चाहता हूं कि शिक्षा के क्षेत्र में विस्तार में आपका पिछले कार्यकाल में सराहनीय भूमिका रही। हर वर्ग को आपने बढ़ चढ़कर आगे बढ़ाया, अब मैं आपको पत्रकारों का राष्ट्रीय स्तरीय संगठन ''आल इण्डिया स्माल न्यूज पेपर्स  ऐशोसिएशन'' (आइसना) प्रान्तीय महासचिव मध्यप्रदेश की ओर से अवगत कराना चाहता हूं कि मध्यप्रदेश में अशासकीय/शासकीय स्कूलों में राष्ट्रीय पर्वो में दान कार्यक्रम के नाम पर प्रत्येक छात्र-छात्राओं से चन्दा लिया जाता है, जो जबरिया वसूल किया जाता है और शासन, प्रशासन की महान हस्तियां उन कार्यक्रमों में झण्डा वंदन करते है और प्रशंसा/ गर्व हासिल करते है परन्तु कहीं ना कहीं छात्र छात्राओं से जबरिया वसूली ही की जाती है और राष्ट्रीय पर्व मनाया जाता है। यह राष्ट्रीय त्यौहार भारत के गौरव का प्रतीक हैं। 

मेरा अनुरोध है कि इस ओर शायद आपका ध्यान नहीं गया हो........ पर अब आपका ध्यान आर्कर्षित हो गया होगा। मध्यप्रदेश की जनता के प्रिय मुख्यमंत्री होने और इन शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं के मामा बनने के नाते आपका यह कत्र्तव्य हैं कि आप इस आग्रह पत्र के प्राप्त होते ही शीघ्र निर्णय लेकर प्रदेश के विद्यार्थियों के लिये सौगात दे और राष्ट्रीय पर्व के नाम पर होने वाली किसी भी दान/फीस की वसूली पर पाबन्दी लगा दें और इस प्रकार की वसूली के खिलाफ कड़ा रूख अपना दे। 

26 जनवरी 2014 को गणतंत्र दिवस आपके सामने है और सभी स्कूलों में इस प्रकार की वसूली की तैयारियां शुरू हो गई है जिसमें 10 रूपये से लेकर 500/- रूपये तक वसूल की जाती है और कार्यक्रम आयोजित किये जाते है। ऐसे कई छात्र छात्रायें ऐसी रकम नहीं दे पाते और राष्ट्रीय पर्व में झण्डा वंदन कार्यक्रम में सम्मिलत होने से मुंह छिपाते है और वसूली के कारण अपने आपको अपमानित करते है जो उचित नहीं है।

आप खुली सोच के व्यक्ति है...... मुख्यमंत्री के साथ साथ आम परिवारों की सोच रखते है आपका निर्णय शीघ्र आए आइसना संगठन इन्तजार कर रहा है। वहीं यह सौगात अचानक छात्र-छात्राओं और उनके अभिभावकों को प्रसन्नता प्रदान करेंगी और मानसिक बोझ भी समाप्त होगा। यह निर्णय लेने में आपको भी गर्व होगा, सरकार और राष्ट्र का फिर सीना पुन: चौड़ा हो जायेगा।

आप समझदार है और क्या लिखू आपको तो इशारा ही काफी है उम्मीद हैं कि निर्णय में पत्रकार संगठन आइसना को भी स्थान मिलेगा।
धन्यवाद

आपका 


अवधेश भार्गव  (पत्रकार)
प्रान्तीय अध्यक्ष
आल इण्डिया स्माल न्यूज पेपर्स 
एशोसिएशन (आईसना)
 मो: 90397 27270

विनय जी. डेविड (पत्रकार)
प्रान्तीय महासचिव, 
आल इण्डिया स्माल न्यूज पेपर्स एशोशिएशन (आईसना) 
फोन.: 0755-4078525, 
मो: 98932 21036



Posted by jasika lear, Published at 06.44

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >