शर्लिन अपने लिए कोई और दलाल ढूंढ लो : रूपेश

शर्लिन अपने लिए कोई और दलाल ढूंढ लो : रूपेश

toc news internet channel 


मुंबई: हमेशा चर्चा में रहने वाली सेक्सी शर्लिन चोपड़ा अपनी फिल्म 'कामसूत्र 3डी' के रिलीज से पहले ही विवादों में घिर गई है. फिल्म के डायरेक्टर रूपेश पॉल और शर्लिन के बीच रिश्ते बेहद बिगड़ चुके हैं और मामला एक-दूसरे को बुरी तरह जलील करने तक पहुंच गया है.

रूपेश ने शर्लिन को कहा कि 'अपने लिए कोई और दलाल ढूंढ लो और मुझे यानी अपने बाप को बख्श दो.' इसके जवाब में शर्लिन ने ट्विटर पर लिखा कि जब तक असभ्य रूपेश पॉल को मीडिया के सामने लात न मारूं, उसके दलाल जैसे चेहरे पर न थूकूं, तब तक मेरा गुस्सा कम नहीं होगा.

हुआ यूं कि कुछ समय पहले शर्लिन को फिल्म से निकाल दिया गया था. लेकिन बाद में मामला सुलझा और शर्लिन लौट आईं. अब फिल्म तैयार है लेकिन इसके प्रमोशन से शर्लिन गायब हैं.

शर्लिन ने ट्विटर पर कहा कि मैंने तो फिल्म के लिए महज 5 दिन की शूटिंग कर इसे छोड़ दिया था. इस पर पलटवार करते हुए डायरेक्टर रूपेश ने कहा कि अपने घटिया वीडियो सॉन्ग ‘बैडगर्ल’ के प्रमोशन के लिए शर्लिन ये हरकतें अपना रही हैं.

रूपेश ने ये भी कहा कि नंगई शर्लिन के डीएनए में है और मैं इसे बदल नहीं सकता. दरअसल पिछले दिनों कामसूत्र3डी का दूसरा ट्रेलर रिलीज हुआ. इस दौरान शर्लिन चोपड़ा वहां मौजूद नहीं थी. डायरेक्टर रूपेश ने इस पर शर्लिन की खिंचाई की और कहा कि उनका रवैया प्रफेशनल नहीं है. इस पर शर्लिन ने ट्वीट कर कहा कि मुझ पर जो भी इल्जाम लगाए जा रहे हैं, वो घटिया, बेबुनियाद और क्रूर हैं. इन्हीं सब वजहों से मैंने फिल्म छोड़ दी थी. शर्लिन ने कहा कि अब मैं किसी भी प्लेटफॉर्म पर कामसूत्र 3डी का प्रचार नहीं करूंगी. गौरतलब है कि शर्लिन के सिर्फ ट्विटर पर ही 11 लाख से ज्यादा फॉलोअर हैं.

रूपेश ने आकहा कि शर्लिन ने फिल्म छोड़ दी, ये मेरे लिए भी खबर है. सच्चाई तो ये है कि बतौर डायरेक्टर मैंने ही उन्हें उनके हर शॉट में कैप्चर किया. सिर्फ कुछ प्रमोशनल वीडियो के दौरान मैं नहीं था. तो मुझे समझ नहीं आता कि उन्होंने फिल्म कब छोड़ी. कान से लेकर अमेरिका और गोवा तक तमाम फिल्म फेस्टिवल में तो वो साथ थीं.

मुझे उनके ट्वीट्स पढ़कर यही लगता है कि अब अपने घटिया एक्टिंग और सिंगिंग वाले म्यूजिक वीडियो बैड गर्ल को लेकर नाराज हैं. मुझे खुशी होगी अगर उन्हें इस विवाद के चलते उस वीडियो के लिए कुछ पब्लिसिटी मिल जाती है.

मगर उन्हें नहीं भूलना चाहिए कि ये रूपेश पॉल और कामसूत्र 3डी ही हैं, जो उन्हें सिनेमा की दुनिया में लाइमलाइट में लेकर आए.इसी फिल्म के चलते उनकी स्ट्रिपर (कपड़े उतारने वाली) से एक्ट्रेस की इमेज बनी. मगर मैं किसी का डीएनए तो नहीं बदल सकता न.मैं बस उससे यही कहना चाहता हूं. प्यारी शर्लिन, अपने धंधे के लिए एक दलाल खोज लो. अपने बाप को बख्श दो.

यहां मैंने बाप शब्द इस्तेमाल किया है क्योंकि शर्लिन मुझे अप्पा कहती थीं. दक्षिण भारतीय भाषाओं में अप्पा का मतलब पिता होता है. खुद शर्लिन भी देश के इसी हिस्से से ताल्लुक रखती हैं.
Posted by jasika lear, Published at 04.09

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >