नौकरानी की हत्या के आरोप में सांसद की बीवी जागृति गिरफ्तार

नौकरानी की हत्या के आरोप में सांसद की बीवी जागृति गिरफ्तार


toc news internet channel


नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के जौनपुर से बीएसपी के बाहुबली सांसद धनंजय सिंह की पत्नी डॉक्टर जागृति सिंह को नौकरानी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है और पूछताछ की जा रही है। घर में काम करने वाले दूसरे नौकर ने आरोप लगाया है कि जागृति सिंह काफी समय से नौकरानी का उत्पीड़न कर रही थीं और उसके साथ मारपीट करती थीं। हालांकि, सांसद धनंजय सिंह ने इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि नौकरानी की मौत छत से गिरने की वजह से हुई है। मामले की तफ्तीश में चाणक्यपुरी पुलिस सभी पहलुओं से जांच कर रही है।

दिल्ली के चाणक्यपुरी इलाके में 175 साउथ एवेन्यू में यह वारदात हुई है। सूचना मिलते ही मौका-ए-वारदात पर डीसीपी और कई सीनियर ऑफिसरों ने घटना का जायजा लिया। घर में मौजूद लोगों से वारदात के बारे में पूछताछ की गई। बताते हैं कि सांसद निवास के नौकर ने सांसद की पत्नी पर पीट-पीटकर मार डालने का आरोप लगाया, जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए जागृति सिंह और अन्य कुछ लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया था। बाद में पुलिस ने जागृति सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

डीसीपी एसबीएस त्यागी के मुताबिक बीएसपी सांसद धनंजय सिंह परिवार के साथ चाणक्यपुरी इलाके में बने सरकारी आवास में रहते हैं। शुरुआती जांच में मृतक मेड का नाम राखी मालूम चला है, जो कि मूल रूप से कोलकाता की रहने वाली है। सांसद के यहां राखी बतौर मेड करीब 10 महीने पहले आई थी। घटना के बारे में पुलिस को सुबह करीब आठ बजे जानकारी मिली। शुरुआती तफ्तीश के मुताबिक वारदात एक दो-दिन पहले हुई है। मौके पर जब पुलिस पहुंची तो नौकर ने जागृति सिंह पर राखी को मार डालने का आरोप लगाया। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद हत्या और टाइमिंग की सटीक जानकारी मिल सकेगी।

धनंजय सिंह के सांसद निवास में अक्सर बिजली का काम करने वाले बिजली मिस्त्री आजाद ने बताया कि जागृति सिंह नौकरों के साथ काफी बुरा व्यवहार करती रही हैं। उन्होंने बताया कि एक बार मैंने जब कहा कि नौकर को क्यों मार रही हैं, तो उन्होंने मुझे भी चप्पलों से पीटा।
Posted by jasika lear, Published at 01.03

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >