कहां है मेरा पति, 10 दिन बाद भी नहीं लौटा

कहां है मेरा पति, 10 दिन बाद भी नहीं लौटा

toc news internet channel 

नरसिंहपुर से सलामत खान की रिपोर्ट..
 (नरसिंहपुर // टाइम्स ऑफ क्राइम) संपर्क:-  9424719876

खेत जाने के लिए निकला 10 दिन बाद भी नहीं लौटा


नरसिंहपुर। बीते दिवस गोटेगांव थाना क्षेत्र के ग्राम मुरदई (पड़रिया) निवासी एक विवाहित महिला ने अपने पति के गायब हो जाने के मामले में बीते दिवस पुलिस अधीक्षक के नाम दिये गये आवेदन में आशंका जताई है कि उसके पति को साजिश के तहत गायब कर दिया गया है और पुलिस तफ्तीस में गैर गंभीरता नहीं बरत रही है। शिकायतकत्र्ता महिला लक्ष्मीबाई पति गोविंद सिंह राजपूत 35 वर्ष ने दिये गये आवेदन में बताया कि करीब 4 माह पूर्व उसके पति गोविंद सिंह का गांव के ही पवन पिता नर्मदी पटैल 28 वर्ष के साथ झगड़ा हुआ था जिसमें पवन की रिपोर्ट पर उसके पति के विरूद्ध पुलिस ने धारा 307 के तहत हत्या के प्रयास का प्रकरण दर्जकिया था। महिला ने बताया कि इस मामले में उसके पति गोविंद द्वारा अनावेदक पवन के साथ पुरानी रंजिश को खत्म करने के उद्देश्य से 20 हजार रूपये देकर राजीनामा कर लिया गया था, लेकिन इसके बाद भी पवन की गतिविधियां उसके पति के साथ ठीक नही थी। महिला के मुताबिक गत 3 सितंबर 2013 को सुबह करीब 9 बजे मेरे पति गोविंद खेत की कहकर घर से निकले थे, किंतु कुछ देर बाद जब मेरे ससुर मोहन सिंह राजपूत घर आये तो उन्होंने बताया कि गोविंद तो पवन के साथ कहीं गया है। इसके बाद से गोविंद का अब तक कोई पता नही है। महिला व उसके परिवारजनों ने जब इस संबंध में पवन से पूछताछ की थी तो उसने बताया था कि गोविंद तो 12 बजे तक ही मेरे साथ था, इसके बाद वह कहां गया मुझे नही पता, ऐसे में परेशान होकर पूरे परिवार द्वारा पवन को जगह-जगह ढूंढा गया लेकिन उसका अब तक कोईसुराग नही लगा।

थाने में दर्ज है गुमशुदगी
लक्ष्मीबाई ने बताया कि उक्त घटना के संबंध में जब पुलिस को सूचना दी गयी थी तो पुलिस द्वारा गुम इंसान की कायमी की गयी थी लेकिन उसे ढूंढने के लिए पुलिस द्वारा कोई प्रयास नही किये गये। लक्ष्मीबाई ने आशंका जताई है कि उसके पति के गायब होने में उसे पवन पर पूरा-पूरा संदेह है क्योंकि झगड़े के बाद पवन अक्सर तरह -तरह की धमकियां देते रहता था,पर पुलिस के सामने आशंका जताने के बाद भी पुलिस द्वारा पवन से कोई पूछताछ नही की गयी।

एएसपी ने दिए जांच के आदेश
महिला की व्यथा सुनने के बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक द्वारा उसे आश्वस्त किया गया कि तुम्हारे पति को ढूंढने में हम हर संभव मदद करेंगे। उन्होंने संबंधित थाना प्रभारी को मामले की गंभीरता से तफ्तीश करने की हिदायत देते हुए शीघ्र परिणाम मांगा है।

Posted by jasika lear, Published at 08.08

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >