फरार अशोक गोयल का शूटर शाहिद ख़ान गिरफ्तार

फरार अशोक गोयल का शूटर शाहिद ख़ान गिरफ्तार

पत्रकार विनय डेविड पर रिवाल्वर अड़ा मांगी थी फिरौती
toc news internet channel

भोपाल // विनय डेविड - 9893221036

खबर है न्यायलय से फरार  घोषित अशोक गोयल का शूटर शाहिद ख़ान उर्फ भूरा कबाड़ी को होशंगाबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है. शाहिद ख़ान पर भोपाल सहित प्रदेश मे दर्जनों प्रकरण दर्ज हैं कई वर्षो से ये पुलिस को चकमा दे रहा था, भोपाल में शाहिद ख़ान गोयल बिल्डर्स के संचालक अशोक गोयल के लिए अड़ीबाजी कर वसूली का काम करता था रिवाल्वर अड़ा कर अड़ीबाजी करने वाले शाहिद खान अशोक गोयल का शूटर है जिसके ऊपर होशंगाबाद थाने में दर्जनों केस दर्ज है जिसमें वो पहले से ही फरार था। शाहिद खान का मूल व्यवसाय कबाड़ी का है। होशंगाबाद के लोग उसे भूरा कबाड़ी के नाम से जानते है प्रेस के कार्यालय में घूसकर धमकी अड़ीबाजी के मामले में इसकी एम.पी.नगर पुलिस को तलाश है वहीं होशंगाबाद पुलिस भी इसकी तलाश में लगी थी।

गोयल बिल्डर्स के संचालक
अशोक गोयल
 भोपाल. मध्यप्रदेश की राजधानी में खुलेआम फिरौती, अड़ीबाजी का खेल चल रहा है। शहर के गुण्डे, बदमाशों ने बिल्डरों के साथ मिलकर अड़ीबाजी का खेल खेल रहे हैं। 

मामला तब उठा जब गोयल बिल्डर्स ने अपने तयशुदा गुण्डों के साथ विनय डेविड पत्रकार के ‘‘टाइम्स ऑफ क्राइम’’ कार्यालय में घुसकर विनय डेविड को रिवाल्वर अड़ाकर फिरौती कें जबरिया 15 लाख रूपये मांगे की थी व नहीं देने पर जान से मार देने की धमकियां दी थी, गोयल बिल्डर्स के संचालक अशोक गोयल ने अपने गुण्डों से रिवाल्वर की नोक पर धमकाया जा था । 

आरोपियों की ये सारी हरकते आफिस में लगे विडियो कैमरे में कैद हो गई। रिकार्डिंग सहित शिकायत थाना एम.पी.नगर में की गई जिस पर गम्भीरता से लेते हुए एम.पी.नगर के सी.एस.सी. श्री अरविन्द खरे ने पूरी विडियो फूटेज देखकर थाने एम.पी. नगर में मामला दर्ज करने के निर्देश दिये थे । जिस पर पुलिस थाना एम.पी. नगर में धारा 387, 492, 294, 506 एवं 120 बी के तहत प्रकरण दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही थी । 

पुलिस ने दिखाई तत्परता:-  

अंचित गोयल, दिनेश राज, राकेश चदोले,संतोष जादोन पुलिस हिरासत में 

विवेचना अधिकारी श्री संतोष द्विवेदी मो. 9755104032 विवेचना अधिकारी श्री संतोष द्विवेदी थाना एम.पी.नगर में जब 23 दिसम्बर 2012 को जानकारी दी गई तो थाना एम.पी.नगर के प्रभारी ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही को अंजाम दिया और गम्भीर मामले की जांच श्री संतोष द्विवेदी मो. ९७५५१०४०३  को सौपी गई। 

फरार आरोपियों की जानकारी जुटाना शुरू कर दिया और फरौती अड़ीबाजी के षडय़ंत्र में शामिल अन्य चार आरोपियों अंचित गोयल, दिनेश राज, राकेश चदोले, संतोष जादोन को गिरफ्तार कर लिया 

थाना एम. पी. नगर में अंचित गोयल, दिनेश राज,
राकेश चदोले, 
संतोष जादोन पुलिस हिरासत में 
और 31 दिसम्बर 2012 को भोपाल सी.जी.एम. श्री सोनकर जी की कोर्ट में विभिन्न धाराओं के तहत पेश कर दिया। 

आरोपियों द्वारा किये गये गंभीर अपराध के खिलाफ पत्रकार विनय डेविड एवं उनके अधिवक्ता यावर खान द्वारा लिखित और मौखिक आपत्ति लगाई गई परन्तु न्यायालय ने चारों खुखार आरोपियों की जमानत दे दी वही हाजरी माफ़ी भी दे दी, 

जबकि मुख्य आरोपी अड़ीबाज भूरा कबाड़ी उर्फ शाहिद खान अशोक गोयल का शूटर और उसका फरार साथी खुलेआम रिवाल्वर लिये घूम रहे है। 


अशोक गोयल की तीन बार अग्रिम जमानत खारिज:-  

अड़ीबाज भूरा कबाड़ी उर्फ शाहिद खान
अशोक गोयल का शूटर और उसका फरार साथी
जबरिया वसूली अड़ीबाजी डराने धमकाने का प्रमुख आरोपी अशोक गोयल लगातार भोपाल पुलिस को चकमा दे रहा था.  कभी रायपुर तो कभी भोपाल के कुछ ठिकानों से पुलिस को गुमराह कर रहा है वहीं मौके का फायदा उठाकर  न्यायालय में तीन बार अग्रिम जमानत पाने का प्रयास किया, जिस पर पुलिस द्वारा गंभीर अपराध होने और आरोपियों की गिरफ्तारी आवश्यक बताये जाने पर न्यायालय ने तीनों बार अग्रिम जमानत खारिज कर दी। जमानत नहीं मिलने के बाद अशोक गोयल ने हाई कोर्ट जबलपुर से अग्रिम जमानत हासिल कर ली। 

विवेचना अधिकारी श्री संतोष द्विवेदी
मो. 9755104032
क्या है मामला:-  

2007 में ओमवती गोयल फर्म गोयल बिल्डर्स से एक फ्लेट खरीदा गया था जिसकी कीमत सात लाख थी, बिल्डर अशोक गोयल को काफी रकम चुकाने के बाद करीब दो लाख रूपये शेष रह गये थे जिसके एवज में अशोक गोयल जबरिया 10 लाख और तय किया गया गुण्डा द्वारा फिरौती 5 लाख रूपये की मांग की गई और यह मांगे बकायदा अशोक गोयल और शाहिद खान के अन्य लोगों द्वारा रिवाल्वर अड़ाकर डरा धमका कर मांगी गई। 
  
केस वापसी की धमकी:-  

अशोक गोयल और शाहिद खान फरार जरूर है परन्तु उनके हौसले आसमान को छू रहे है वो लगातार अपने गुण्डे अपराधीतत्वों द्वारा चमका धमका रहे है कि किसी भी तरह से केस वापस हो जाय। केस वापसी के लिये भी 31 दिसम्बर को 11:30 पर विनय डेविड की पत्नि को चार रिवाल्वरधारियों ने घर में घूस कर जान से मारने और बच्चों को उठा लेने की धमकी दी और फरार हो गये, जिसकी शिकायत भी क्षेत्रिय थाने में की गई जिस पर पुलिस ने जांच परखकर अपराध कायम कर लिया है। 

1100 रूपये का ईनाम:-  

मामला 22 दिसम्बर 2012 का है अपराध 23 दिसम्बर 2012 को कायम किया गया। अपराध गंभीर होने के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से प्रदेश कि पत्रकारों में आक्रोश हंै क्योंकि विनय डेविड ‘‘ऑल इण्डिया स्मॉल न्यूज पेपर्स ऐशोसिएशन ‘‘आईसना’’ के प्रदेश महासचिव एवं ‘‘टाइम्स ऑफ क्राइम’’ के सम्पादक हैं और यह गंभीर अपराध को इनके कार्यालय के अन्दर ही अंजाम दिया गया। पत्रकारों की आवाज पर श्री अवधेश भार्गव प्रदेशाध्यक्ष ‘‘आईसना’’ ने पत्रकारों और आमजनता से अपील की है कि इन आरोपियों को शीघ्र पकड़ा जाना चाहिये और जिनके पास इन आरोपियों की कोई जानकारी हो हमें बता दे साथ ही जानकारी देने वाले को 1100/- रूपये का नगद ईनाम देने की भी घोषणा की है। वही भोपाल  पुलिस  अधि षक  को आवेदन देकर फरार आरोपियों को गिरफ़्तारी जल्दी करने की मांग की थी। 

अड़ीबाज भूरा कबाड़ी उर्फ शाहिद खान अशोक गोयल का शूटर और उसका फरार साथी

खुखार अपराधी है शाहिद :-  

रिवाल्वर अड़ा कर अड़ीबाजी करने वाले शाहिद खान अशोक गोयल का शूटर है जिसके ऊपर होशंगाबाद थाने में दर्जनों केस दर्ज है जिसमें वो पहले से ही फरार है। शाहिद खान का मूल व्यवसाय कबाड़ी का है। होशंगाबाद के लोग उसे भूरा कबाड़ी  के नाम से जानते है प्रेस के कार्यालय में घूसकर धमकी अड़ीबाजी के मामले में इसकी एम.पी.नगर पुलिस को तलाश है वहीं होशंगाबाद पुलिस भी इसकी तलाश में लगी थी  आखिर वो  अब पुलिस गिरफ्त में है । 

पत्रकार संगठनों में आक्रोश :-  

प्रदेश में पत्रकारों पर आये दिन हमले हो रहे है जिससे पत्रकार जगत में आक्रोश बढ़ रहा था प्रदेश में शिवराज सरकार को पत्रकारों पर होने वाले अपराधों की बढ़ोतरी को लेकर कोई प्रतिक्रिया और चिन्ता नहीं है आये दिन खुलेआम पत्रकारों को ऐसी गंभीर स्थिति का सामना करना पड़ता है जिसको लेकर सरकार को गंभीरता का परिचय देना चाहिये। पत्रकार विनय डेविड के कार्यालय में घूसकर अड़ीबाजी करने वालो का ठौर ठिकाना मोबाईल नम्बर सभी होने के बावजूद पुलिस नहीं पकड़ पाई  कयोकी  इनके पते फर्जी थे । डेविड पर रिवाल्वर अड़ाने वाले शाहिद खान का मोबाईल नम्बर क्रमांक 7879971666 है अशोक गोयल का मोबाईल नम्बर 9826053535 जो जगजाहिर है । शाहिद खान का मोबाईल सिम भी फर्जी पते पैर जारी है। 

रिवाल्वर जप्ती होगी :-  
अड़ीबाज भूरा कबाड़ी उर्फ शाहिद खान
अशोक गोयल का शूटर और उसका फरार साथी

हाईकोर्ट से अशोक गोयल को जमानत मिलने के बाद उसने शाहिद भूरा कबाड़ी और उसके साथी को गिरफ्तार कराने में पुलिस जाँच में कोई मदद नहीं की वाही एक भाजपा नेता का सहयोग लेकर बचता रहा. परतु देर ही सही शाहिद खान को होशंगाबाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है जल्द ही वो अब भोपाल पुलिस की गिरफ्त में होगा। शाहिद खान की गिरफ़्तारी के बाद अशोक गोयल दुवारा अड़ीबाजी के उपलब्ध कराई गई रिवाल्वर भी जप्ती होना बाकी है।  

शहीद खान न्यायलय से फरार घोषित :-  

शाहिद भूरा कबाड़ी और उसके साथी को गिरफ़्तारी के आसार कम होने के कारन एम.पी. नगर पुलिस ने अशोक गोयल और अन्य  के खिलाफ न्यायलय में चालान पहले ही पेश कर चुकी है। शहीद खान और एक उसके साथी को न्यायलय ने फरार घोषित कर रखा है. 


पत्रकार विनय डेविड - 9893221036

Posted by jasika lear, Published at 02.02

Tidak ada komentar:

Posting Komentar

Copyright © THE TIMES OF CRIME >